RBI प्रेस कॉन्फ्रेंस लाइव न्यूज़ अपडेट :: पूरा देश इस वक्त कोरोना महामारी की दूसरी लहर के चपेट में है, रिजर्व बैंक गवर्नर शक्तिकांता दास राष्ट्रपति कॉन्फ्रेंस कर रहे हैं।

20 मई को 35,000 करोड़ रुपये का दूसरा GSAP जारी किया जाएगा। इमरजेंसी हेल्थ सर्विस के लिए 50,000 करोड़ रुपये मिलेंगे। की three साल के लिए 50,000 करोड़ रुपये की प्रति टैप लिक्विडिटी होगी। बैंकों को कोरोना लोन बुक बनाने की मंजूरी मिलेगी। साथ ही प्रोयोरिटी सेक्टर के लिए जल्द ही लोन और इंसेंटिव्स दिए जाएंगे।

मौसम विभाग ने मॉनसून के सामान्य रहने की उम्मीद जताई है। सामान्य मानसून से डिमांड में वृद्धि बनी रहने की उम्मीद है। पेट्रोल और डीजल की कीमतों में मार्च और अप्रैल में थोड़ी राहत देखने को मिली है। अप्रैल के महीने में ट्रैक्टर की मांग में तेजी रही, दालें और खाने के तेल की महंगाई में तेजी से देखने को मिला है। अच्छे मन्नसून से महंगाई में और कमी आने की उम्मीद है। पिछले साल के मुकाबले इस साल महंगाई दर पर कम असर हुआ है, हमारी सभी महत्वपूर्ण आंकड़ों पर नजर बनी हुई है।

आज भारत मुश्किलों के दौर से गुजर रहा है। रिजर्व बैंक की परिस्थितियों पर नजर बनाए रखी गई है। भारत की ग्रोथ में लगातार सुधार हो रहा था लेकिन अचानक संक्रमण की संख्या बढ़ने से आर्थिक परिस्थितियों के बदलाव आ गए। हमने कोरोना के ग्राफ को फ्लैट कर लिया था, लेकिन अब हालात बदल चुके हैं। कोरोना की दूसरी लहर से इकोनॉमी पर असर पड़ा है। हमे तुरंत और बड़े पैमाने पर कदम उठाने की जरूरत है। कोरोना के कारण आउटलुक चट्टान है।

हमें ग्लोबल इकोनॉमी में रिकवरी के संकेत दिख रहे हैं। दुनिया के बाकी देशों के मुकाबले भारत में रिकवरी तेज हो रही है। हमारी नजर महंगाई की दर पर भी है। हम कोरोना से अनंत व्यवसायों को मदद करेंगे। समाज के हर वर्ग को राहत देने के लिए कदम उठाए जा रहे हैं। यूनिटिंग यूनिट्स पर अबतक ज्यादा असर नहीं पड़ा है। कोरोना से निपटन के लिए सभी संभव उपाय कर सकते हैं।



Source link