नई दिल्ली: आईटीआर: आयकर रिटर्न दाखिल करने वालों के लिए बड़ी राहत की खबर है। सरकार ने कोरोना महामारी के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए वित्त वर्ष 2020 के लिए टैक्स कंप्लायंस और आईटीआर की समयसीमा 31 मई तक बढ़ा दी है। टैक्सपेयर्स वित्त वर्ष 2020 का संशोधित रिटर्न भी दाखिल कर सकते हैं।

ITR, टैक्स कंप्लायंस की डेडलाइन बढ़ी

केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड- CBDT) ने कहा कि कोरोना संकट की मौजूदा स्थिति को देखते हुए टैक्सपेयर्स, टैक्स कंसल्टेंट्स और अन्य पक्षों के सुझावों को देखते हुए सरकार ने कुछ महत्वपूर्ण तारीखों को आगे बढ़ाने का फैसला किया है। CBDT ने कहा कि कर अनुपालन में छूट के लिए कई लोगों ने अपील की थी। इसके बाद सरकार ने कर अनुपालन के लिए समय सीमा को 31 मई तक बढ़ा दिया। जिसके तहत कारोबारी साल 2019-20 के लिए देरी से या रिवाइजड रिटर्न दाखिल करना शामिल है।

ये भी पढ़ें- SBI कस्टमर्स के लिए बड़ी राहत! केवाईसी के लिए ब्रांच जाने की जरूरत नहीं, ई-मेल से हो जाएगा काम

31 मई 2021 तक मोहलत मिली

CBDT ने कहा कि आकलन वर्ष 2020-21 के लिए संशोधित रिटर्न दाखिल करने की तारीख पहले 31 मार्च 2021 थी, जिसे बढ़ाने के लिए 31 मई 2021 कर दिया गया है। इसके साथ ही जिन मामलों में करदाताओं को नोटिस भेजा गया है और उन्हें उसका जवाब देने के लिए 1 अप्रैल तक की मोहलत दी गई थी, वे अब 31 मई तक नोटिस का जवाब दाखिल कर सकते हैं। इसी तरह कोई भी व्यक्ति इनकम टैक्स को लेकर कमिश्नर के सामने 31 मई तक अपील कर सकता है। पहले 30 अप्रैल डेडलाइन थी।

DRP आपत्ति दाखिल करने की तिथि बढ़ी

ऐसे ही डिसट्यूट रेजॉल्यूशन पैनल (DRP) के सामने आपत्ति दाखिल करने की आखिरी तारीख भी 1 अप्रैल से उठकर 31 मई कर दी गई है। धारा 144 C के तहत DRP को खारिज करने के लिए आपत्ति दाखिल करने की तिथि को 31 मई तक कर दिया गया है। CBDT ने धारा 194-IA, 194-IB और 194M के तहत 30 अप्रैल तक पूरी होने वाली कटौती में कटौती की और स्टेटमेंट या कलेक्शन की तारीख को भी बढ़ाकर 31 मई तक बढ़ा दिया है।

कोरोना महामारी के कारण बढ़ाई तारीखें

वास्तव में देश में तेजी से बढ़ते कोरोना संक्रमण के दूसरे दौर ने लोगों के लिए नई मुश्किलें पैदा कर दी हैं। कई राज्यों में लॉकडाउन, आंशिक लॉकडाउन और नाइट कर्फ्यू लागू हैं। जिसके कारण टैक्सपेयर्स आकलन वर्ष 2020-21 के लिए आईटीआर दाखिल नहीं कर पाया। कई एक्सपर्ट्स का ये भी मानना ​​है कि अगर हालात जल्द नहीं सुधरे तो 31 मई की तारीख को भी आगे बढ़ाना पड़ सकता है।

ये भी पढ़ें- पेट्रोल की कीमत आज 03 मई 2021: पेट्रोल-डीजल की कीमतों में आज भी तेजी है! जानिए अपने शहर के बारे में

लाइव टीवी



Source link