नई दिल्ली। देश जब से PUBG मोबाइल इंडिया पर प्रतिबंध लगा दिया है। उसके बाद से ऐसी कई रिपोर्ट्स के बारे में पता चला है जो कि इस गेम की दोबारा लॉन्चिंग का दावा करता है। कई रिपोर्ट्स का यह भी कहना है कि यह गेम भारतीय बाजार में दोबारा कभी भी नहीं आ सकता है। जल्द ही वापसी कर सकती है PUBG
अभी हाल में एक रिपोर्ट से पता चला है कि यह खेल फिर से कर सकता है। रिपोर्ट के मुताबिक कंपनी ने पहले अपने ऑफिशियल यूटुलिटी चैनल पर 2 मई, 2021 को टीजर वीडियो अपलोड किया और फिर उसे थोड़ी देर बाद ही हटा दिया। नए बैनर के मुताबिक यह पता चलता है कि PUBG मोबाइल एक्सक्लूसिव इंडियन वर्जन ‘बैटलग्राउंड मोबाइल इंडिया‘के नाम से भिन्नाना होगा। अब नए लीक पर ध्यान डालते हैं और इसके बारे में पता करते हैं।

ब्लैक-गोरे का भेद मिटाएंगे गूगल के यह मल्टी स्किन हैंडशेक इमोजी, जानें कब तक लॉन्च होंगे

नया नाम के साथ वापसी करेगा खेल
हाल ही में मिली जानकारी के अनुसार, PUBG मोबाइल इंडिया की OFishial वेबसाइट अब एक नई क्रिएटिव कंपनी के तौर पर काम करती है। इससे पता चला है कि PUBG मोबाइल के भारतीय वर्जन का नाम ‘बैटलग्राउंड मोबाइल इंडिया’ होगा। नए पोस्टर वीमो पर एक वीडियो के एम्बेडेड नंबर से पता चला था।

कंपनी ने कार्यालय खोला, भर्तियां शुरू
इससे यह साफ हुआ कि काफी ढूंढ के बाद बैकग्राउंड इमेज में कुछ जरूरी बदलाव के बारे में पता चलता है। वेबसाइट में शामिल किए गए एक नए क्रिएटिव एसेट से लिंक्ड स्रोत कोड पाया गया। नए बदलावों से यह भी पता चलता है कि गेम भारत में बैटलग्राउंड मोबाइल इंडिया के नाम से वापसी करने वाला है। आपको बता दें कि बेंगलुरु में कंपनी ने ऑफिस भी खोला है, जिसमें कर्मचारियों को काम पर रखना भी शुरू कर दिया है।

व्हाट्सएप में बड़े काम का फीचर आ रहा है, अब मैसेज को भेजने से पहले खुद को सुनेंगे

क्राफ्टन भारत में लाने के लिए कोशिश कर रही है
रिपोर्ट में यह भी साफ होता है कि कुछ महीने पहले रिलीज की गई टीजर वीडियो को ऑफिशियल यूट्यूब चैनल पर अपलोड की गई थी। अपलोड होने के बाद वीडियो को कंपनी ने प्राइवेट सेक्शन में ट्रांसफर कर दिया था, जिसके बाद वह आम लोगों के लिए उपलब्ध नहीं रह गई थी। क्राफ्टन भारत में इस मोबाइल वीडियो गेम को फिर से लाने के लिए कोशिश कर रही है। अब यह उम्मीद की जा सकती है कि गेम डेवलपर्स देश में फिर से इस लोकप्रिय बैटल रॉयल गेम को लॉन्च कर सकता है।



Source link