नई दिल्ली: कोरोना (कोरोनावायरस) की दूसरी लहर के कारण एक बार फिर लोगों ने कैश मैन से प्लास्टिक मनी की ओर शिफ्ट किया है, जो जितना सुरक्षित है उतना ही रिस्की भी। ऐसे में अपने कस्टमर्स को किसी भी तरह के ऑनलाइन फ्रॉड से बचाने के लिए स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (एसबीआई) ने नया नोटिफिकेशन (न्यू नोटिफिकेशन) जारी किया है, जिसके बारे में आपको जानना बेहद जरूरी है।

SBI ने ट्वीट कर कहा ये बात

बैंक ने ट्वीट करते हुए कहा, ‘हम अपने ग्राहकों से अनुरोध करते हैं कि वे अपने बैंकिंग के बारे में जानकारी किसी के साथ साझा न करें और ना ही किसी को फोन या कंप्यूटर के माध्यम से अपने बैंक खाते तक पहुंचने दें। सावधान रहें। सुरक्षित रहें। यदि आप कोई आपातकालीन निधि ट्रांसफर करना चाहते हैं, तो हमारे डिजिटल बैंकिंग ऐप जैसे योनो और BHIM की सेवाओं का घर बैठे कर रहे हैं। ‘

बैंक फ्रॉड के मामलों में हुई बढ़ोतरी

दरअसल, कोरोना काल में बैंक फ्रॉड के मामलों में तेजी आई है। लोगों को चूना लगाने के ठग लिए आए दिन नए तरीके अपनाते हुए फेक मैन ट्रांसफर ऐप और फेक बैंक अधिकारी बनकर कॉल कर रहे हैं। इसी को देखते हुए एसबीआई ने अपने ग्राहकों से एसएमएस, ई-मेल व सोशल मीडिया के जरिए फेक कॉल से सावधान रहने के लिए कहा है।

इस तरह लोगों को ठगी के जाल में फंसाया

बैंक ने वीडियो शेयर करते हुए बताया, आजकल ये ठग, ग्राहकों से केवाईसी डॉक्युमेंट मांगने के अलावा क्विक व्यू ऐप के जरिए उनके शेयरमार्टफोन को एएक्ससे करने की कोशिश करते हैं। अगर कोई ग्राहक अपने इस जाल में फंस जाता है तो ये उनके शमार्टफोन से केवाईसी के नाम पर सभी संवेदनशील और प्राथमिक जानकारी चुप्पी लेते हैं। ग्राहक के आकांक्षा आईडी, पासवर्ड सहित अन्य आवश्यक परिवर्तन होते हैं।

ठगी से बचने के लिए इन बातों को ध्यान में रखें

ठगी से बचने के लिए आपको बस सावधान रहना है। अगर आपको भी ऐसी कोई कॉल नहीं आती है तो ये जालसाजों के झांसे में न आएँ और कॉल कट करने की संख्या को बंगलौर दें। साथ ही आप यह भी ध्‍यान में हैं कि कोई भी अनजाने व्‍यक्ति को अपना फोन, कम स्‍पष्‍ट एप्‍लिकेशन या लैपटॉप का क्‍वासी कंट्रोलर न लेट। कोई भी व्‍यक्ति से अपनी निजी जानकारी का आदान प्रदान करें।

लाइव टीवी



Source link