नई दिल्ली: शेयर बाजार की बंपर वापसी: क्या आप इस तरह के शेयर जानते हैं कि जिन्होंने अपने खाते को सिर्फ 5 महीने से बहुत कम समय में 10,000 परसेंट का रिटर्न दिया है। आप कहेंगे पक्का नहीं चवन्नी शेयर (पेनी स्टॉक) होगा। जी नहीं, इस शेयर का नाम ऑर्किड फार्मा है, जो कि फार्मा सेक्टर की एक नामी कंपनी है।

आर्किड फार्मा के शेयर ने बम्पर रिटर्न दिया

आपको जानकर हैरत होगी कि ऑर्किड फार्मा का शेयर पिछले साल three नवंबर, 2020 को 18 रुपये पर, पिछले सप्ताह 28 अप्रैल 2021 को ये 1787 रुपये पर बंद हुआ था। यानी इन पांच महीनों के दौरान ही इसने 9,827 परसेंट का रिटर्न दिया। जबकि इस अवधि के दौरान सेंसेक्स में 21.56 परसेंट ही रिटर्न दिया गया।

ये भी पढ़ें- 45 साल की उम्र में करोड़पति बनकर हो सकते हैं रिटायर, सिर्फ 177 रुपये रोजाना बचाना होगा, जानिए कैसे?

कैसे 1 लाख बन गए 99 लाख रुपये

मान लीजिए किसी ने आज से 5 महीने पहले जब ऑर्किड फार्मा फार्मा का शेयर 18 रुपये पर था, तब तक 1 लाख रुपये लगाए, यानी तिलिबान 5556 शेयर खरीदे। पिछले सप्ताह शेयर 1787 रुपये पर पहुंच गया, तो ये 1 लाख रुपये का निवेश 5556 x 1787 = 99.28 लाख रुपये से अधिक यानी लगभग 1 करोड़ रुपये हो गया है।

आज 5 परसेंट टूटा ऑर्किड फार्मा

हालांकि आज आर्किड फार्मा का शेयर 5 परसेंट की गिरावट के साथ 1456 रुपये पर बंद हुआ है। इस भाव पर भी 1 लाख रुपये का निवेश 8.89 लाख रुपये या लगभग 81 लाख रुपये हो जाता है। आर्किड फार्मा की स्थापना 1992 में हुई थी। कंपनी का शेयर पिछले 5 महीने 18 रुपये तक गिरा है और फिर 2,680 रुपये की ऊंचाई तक पहुंच गया है। अगर शेयर के लाइफ टाइम हाई के भाव पर देखा जाए तो 1 लाख रुपये के निवेश की वैल्यू 1.49 करोड़ रुपये तक रही है।

री लिस्ट हुआ ऑर्किड फार्मा है

आपको बता दें कि ऑर्किड फार्मा कुछ दिन पहले ही शेयर बाजार में फिर से लिस्ट हुआ है। इस कंपनी की प्रमोटर धानुका लेबोरेटरीज है, जिसका यह कंपनी में है
98.07 परसेंट हिस्सा है। सार्वजनिक शेयरहोल्डर्स इस कंपनी में आधे परसेंट से भी कम हिस्सा रखते हैं।

तब तक थम जाएगा

इस कंपनी के शेयरों में इतना जोरदार तेजी की सबसे बड़ी वजह है कि नए निवेशकों ने कौड़ियों के भाव मेजोरिटी स्टेक को खरीदा था। सेबी के नियमों के मुताबिक लिस्टिंग के तीन साल के अंदर प्रमोटर्स को कंपनी में अपनी भागीदारी रोकर 75 परसेंट पर लानी होगी। एक बार जब प्रमोटर्स अपना हिस्सा बेचना शुरू करेंगे तो इस शेयर में तेजी से थम जाएगा। यानी इतने शानदार रिटर्न होने के बावजूद एक्सपर्ट्स इसे खरीदने की सलाह नहीं देंगे।

ये भी पढ़ें- SBI कस्टमर्स के लिए बड़ी राहत! केवाईसी के लिए ब्रांच जाने की जरूरत नहीं, ई-मेल से हो जाएगा काम

लाइव टीवी



Source link